Tuesday, December 4, 2012

मनोज पॉकेट बुक्स-गद्दारे वतन


Download 15MB
मनोज पॉकेट बुक्स-गद्दारे वतन
मनोज पॉकेट बुक्स में जो कुछ भी छपा वो सब 'मनोज' के ट्रेड नेम से छपा,जो की कई लेखकों का समूह होना चाहिए(पर मेरे पास इसका कोई प्रमाण नहीं है) इस नाम से मनोज पॉकेट बुक्स ने बाल पॉकेट बुक्स के अलावा सैकड़ों सामाजिक उपन्यास छापे जो की बहुत पढ़े जाते थे। जिसने भी उनके सामाजिक उपन्यास पढ़ें होंगे वो जानते होंगे की उनका स्तर क्या है।
 मै आज तक "मनोज" के जितने में सामाजिक उपन्यास पढ़े है बिना रोये मै उन्हें कभी भी ख़त्म नहीं कर पाया।और उनके बाल पॉकेट बुक्स को तो पढ़कर मुझे हमेशा ऐसा लगता है की मै अपने देश और समाज लिए कुछ कर जाऊ।जितने बेहतर तरीके से इनके बाल पॉकेट बुक्स लिखे गए है की पढने बाद मन देश प्रेम से भर जाता है। ये कहानी भी बिलकुल वैसी ही है, पढने के बाद इसे हमेशा याद रखेंगे इसका मेरा दावा है।
ये बाल पॉकेट बुक्स मुझे बहुत ख़राब हालत में मिली थी जिसे दीमक खा रही थी इसलिए मैंने इसे स्कैन करके हमेशा के लिए बचाने की कोशिश की है और अब तो ये बाल पॉकेट बुक मेरे पास भी नहीं है इसलिए अगर इससे कोई कमी रह गयी हो उसके लिए मुझे खेद है। फिर मिलते है ........

Sunday, November 25, 2012

राजा पॉकेट बुक्स 224 - जहरीली गैस (राजन-इकबाल) (एस. सी. बेदी)

प्रस्तुत है एक राजन-इकबाल के साहसिक और मनोरंजक कारनामों से भरी एक और बाल पॉकेट बुक - जहरीली गैस।


(विनोद-हामिद की कहानी को थोडा और इंतज़ार करना पड़ेगा, पता नहीं त्यौहार की साफ़-सफाई में कहाँ गम हो गयी)

खैर तब तक मजा लीजिये बाल पॉकेट विधा के सबसे लोकप्रिय लेखक और उनके चरित्रों का ...

Wednesday, November 21, 2012

राजा BPB - मायावी संसार - राजन इकबाल (एस. सी. बेदी)

विनोद-हामिद सीरिज का दूसरा भाग (प्रथम भाग यहाँ पर पोस्ट है) कहीं रखा गया है और मिल नहीं रहा है, जैसे ही मिलेगी वो कथा पूरी कर दी जायेगी। 

तब तक के लिए प्रस्तुत है राजा पॉकेट बुक्स में एस सी बेदी रचित - मायावी संसार (राजन-इकबाल सीरिज में) 



Saturday, November 17, 2012

राजा पॉकेट बुक्स-सिगरेट की हत्या (राजन-इकबाल)-एस.सी.बेदी


Download 11MB
Download 15MB
राजा पॉकेट बुक्स-सिगरेट की हत्या (राजन-इकबाल)-एस.सी.बेदी
 आज तो सच कहूँ समझ में नहीं आ रहा है की क्या लिखू. राजन-इकबाल और एस.सी.बेदी जब भी ये नाम साथ में दिखेगा तो समझ ले की मनोरंजन की पूरी गारेंटी, और इस किताब के साथ भी कुछ ऐसा,पढने के बाद आप को परम संतुष्टि का अनुभव करेंगे. ये पूरी तरह से बेहतर कहानी के साथ है और ये जरुर पढने लायक है.

Sunday, October 21, 2012

राजा पॉकेट बुक्स- खौफनाक लंगड़ा (राजन-इकबाल)-एस.सी.बेदी


Download 15MB
राजा पॉकेट बुक्स- खौफनाक लंगड़ा (राजन-इकबाल)-एस.सी.बेदी
 बाल पॉकेट बुक्स जब से मैंने स्कैन किया तब से ले कर आज तक ये बात हमेशा महसूस किया है की जिनता कॉमिक्स तो पढने वाले है उतना बाल पॉकेट बुक्स तो पढने वाले नहीं है. और तो और कमेंट के मामले में भी कॉमिक्स ब्लॉग पर ज्यादा कमेंट लोग करते है पर बाल पॉकेट बुक्स के ब्लॉग पर लोग कम ही आते है. ये भी एक बहुत बड़ा कारण रहा है कॉमिक्स की तुलना में बाल पॉकेट का कम अपलोड होना. कॉमिक्स की तुलना में इसे स्कैन करना भी मुश्किल काम है. पन्नो के ज्यदा होने के कारण एक तो समय ज्यादा लगता है और उनकी बयिन्डिंग के साथ उन्हें स्कैन करना भी बहुत मुश्किल हो जाता है.और लोग पूछते भी नहीं जब की बाल पॉकेट बुक्स के लिए हमें ज्यदा प्रोत्साहन मिलना चाहिए जो की नहीं हो पा रहा है. और इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है की कॉमिक्स ब्लोग्स की नेट पर भरमार है पर बाल पॉकेट बुक्स के ब्लॉग गिनती के है और जहाँ तक मेरी जानकारी है इस ब्लॉग को छोड़ कर कही भी नए अपलोड नहीं आ रहे है. मै आप सब से ये अनुरोध करता हूँ की जितना संभव हो,हमारा प्रोत्साहन करें जिससे हम काम पूरी लगन से कर सके.
वैसे तो इस बाल पॉकेट बुक की कहानी की बात करने की बिलकुल जरुरत नहीं है क्योंकि जब आप इसे पढेंगे तो बस पढ़ते जायेंगे. ये भी बहुत ही शानदार कहानी के साथ है और उस पर इकबाल की मस्ती भी इसका स्वाद बढा देती है इस बेहतर कहानी को पढ़े फिर मिलते है ...............

Wednesday, October 17, 2012

आँख का तमाशा bpb एस.सी बेदी (राजन-इकबाल)


Download 15MB
आँख का तमाशा
 "बाल पॉकेट बुक्स'
 जितना लोग इन्हें पढ़ते थे उतना इसके बारे में लोग आज बिलकुल नहीं सोचते. कॉमिक्स के साथ-साथ मुझे बाल पॉकेट बुक्स पढने का भी नशा खूब चढ़ा. पर कलेक्शन करने जैसा मन तो कभी भी नहीं हुआ.कॉमिक्स के कलेक्शन को लेकर तो मै बहुत पहले से सजग था पर बाल पॉकेट बुक्स को लेकर शायद आज भी नहीं हूँ. और जिन एक के बाल पॉकेट बुक्स मै पढता था वो थे एस .सी .बेदी जी और उनके किरदार राजन-इकबाल. और इतनी पढ़ी की आज मै ये बताने की हालत में नहीं हूँ कितनी पढ़ी होगी. एक समय तो एक दिन में मै १० तक बाल पॉकेट बुक्स पढ़ डालता था. इन्हें पढता तो आज भी बहुत चाव से हूँ.और कलेक्शन भी बाल पॉकेट बुक्स का मेरे पास अच्छा खासा है.
पर एक समय तो मेरा कॉमिक्स और बाल पॉकेट बुक्स से मन पूरी तरह से हट गया था. और ऐसा लगने लगा था की मेरे अलावा कोई भी इन्हें नहीं पढता होगा. फिर नेट की दुनिया में आना हुआ मेरा, और अनुपम जी के ऑरकुट कम्युनिटी 'मनोज कॉमिक्स मैडनेस' ज्वाइन किया तब जा कर मेरा कॉमिक्स और बाल पॉकेट बुक्स का प्यार दुबारा परवान चढ़ा. मैंने मोहित भाई की मदद से कॉमिक्स स्कैन करना शुरु किया. पर बाल पॉकेट बुक्स के बारे में कोई बात ही नहीं करता था. फिर मुझे जा कर इस ब्लॉग के बारे में पता चला और ये काफी दिनों से बंद चल रहा था.मैंने अनुपम जी से बात की और उन्होंने मुझे इस ब्लॉग का को-ओंनर बना दिया इस तरह से बाल पॉकेट बुक्स को इस ब्लॉग पर पोस्ट करना शुरू किया जो आज तक जारी है और उम्मीद है           ता- जिन्दगी जारी रहेगा.
आज कुछ पुरानी यादे ताज़ा हो गए तो मैंने यहाँ आप सब के सामने उतार दिया. अब ये कुछ ज्यादा हो गया है. "आँख का तमाशा" के बारे में मै बस इतना ही कहूँगा,की ये मेरी नज़र में सबसे बेहतर बाल पॉकेट बुक्स में से एक है. पढ़े और इसका आनंद ले फिर मिलते है .....

Monday, October 1, 2012

मीरा BPB - विनोद दुश्मनों के जाल में (विनोद-हामिद)

विश्व सम्राट बनाने का सपना देखने वाले माटुंगा के जाल में फंस गया विनोद। आगे क्या हुआ जाने ये बाल उपन्यास पढ़कर - 

विनोद दुश्मनों के  जाल में (डबल सीक्रेट एजेंट 001/2 विनोद हामिद सीरिज में) मीरा द्वारा लिखित और मीरा पॉकेट बुक्स में प्रकाशित रोमांचक कथा जो दो भागों में फैली हुयी है।

दूसरा भाग 'आग के बेटे' जल्द ही इस ब्लॉग पर उपलब्ध होगा। तब तक मजा लीजिये एक रोचक और सनसनीखेज कथा का।

Saturday, September 29, 2012

स्वर्ग लोक में हंगामा (मीरा पॉकेट बुक्स)

कई दिनों की भाग-दौड़ भरी जिन्दगी के बाद आज अपने ब्लॉग के लिए समय निकाल पाया हूँ। आजकल की जिन्दगी पूरी मशीनी होती जा रही है, अपने लिए ही समय नहीं हो पाता है।

खैर ये रोना तो लगा रहेगा, आप अपनी जिंदगी से कुछ पल चुराइए और मजा लीजिये इस नयी बाल पॉकेट बुक का आपके अपने ब्लॉग पर - 

प्रस्तुत है - मीरा बाल पॉकेट बुक्स में स्वर्गलोक का हंगामा (मीरा - छद्म नाम द्वारा लिखित)

Wednesday, September 12, 2012

मीरा पॉकेट बुक्स - सितम्बर २०१२

दोस्तों, इस पूरे महीने आपके चहेते और एकमात्र बाल पॉकेट बुक्स ब्लॉग पर होगा मीरा पॉकेट बुक्स का जलवा. इस महीने के लिए इस बाल पॉकेट बुक्स प्रकाशन से हम लेकर आये हैं - चार नगीने.

जिनमें से दो मनोरजक कथाओं से भीगे हुए हैं तो दो में हैं प्रसिद्ध जासूस द्वय - विनोद और हामिद.

प्रस्तुत हैं इनके कवर्स, पूरी कथा जल्द ही आने वाली है इस ब्लॉग पर 



 

Saturday, August 25, 2012

ख़ूनी बादल हरीश bpb - राजन इकबाल एस.सी बेदी

अभिजीत भाई,
पिछले तीन - चार दिनों से बारिश की वजह से लाइन में समस्या है, और नेट भी कनेक्ट नहीं हो रहा था, आज भी एक दोस्त के घर से अपलोड और पोस्ट कर रहा हूँ, वडा जो किया था आपसे.

तो आनंद लीजिये रौशनी का जंगल के दुसरे और अंतिम भाग का


CLICK HERE TO DOWNLOAD THE BAL POCKET

Sunday, August 19, 2012

रोशनी का जंगल (राजन-इकबाल) एस.सी.बेदी - हरीश बाल पॉकेट बुक्स

ईद के मुबारक मौके पर आपके लिए प्रस्तुत है - एक नयी बाल पॉकेट बुक. हरीश पॉकेट बुक्स में प्रकाशित दो भागों में रची गयी एक शानदार साहसिक गाथा आपके प्रिय लेखक एस.सी.बेदी और उनके अमर चरित्रों राजन-इकबाल की - रोशनी का जंगल

बाल पॉकेट बुक्स में लिए डाउनलोड लिंक 

बहुत जल्द ही इस शानदार गाथा का दूसरा और अंतिम भाग खुनी बादल आपके मनोरंजन के लिए आ रहा है, आपके अपने बाल पॉकेट बुक्स ब्लॉग पर।

Thursday, August 16, 2012

जिन्दा मुर्दा (राजन-इकबाल) एस.सी.बेदी - राजा पॉकेट बुक्स

प्रस्तुत हैं राजन-इकबाल की कामयाब सीरिज से एस.सी. बेदी द्वारा लिखित एक और बाल उपन्यास - जिन्दा मुर्दा 

DOWNLOAD LINK - 
www.mediafire.com/?sqkeqj8aq9k0sce

Tuesday, August 14, 2012

Fasi ke Fande Par



डाउन लोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें
फांसी के फंदे पर
जैसा की हम सभी जानते है की १५ अगस्त १९४७ को हमारा भारत आज़ाद हुआ था, अंग्रेजो ने हमारे भारत पर २०० सालों तक भारत पर शासन किया. २०० साल की सत्ता को हटा पाना आसान नहीं था, और वो भी उनका शासन जिनके बारे में प्रसिद्ध था की उनका सूरज कभी भी अस्त नहीं होता और ऐसे शासन को ख़त्म करना लगभग असंभव ही था. और इस असंभव कार्य को संभव की उन असंख्य क्रांतिकारियों ने जिनके बारे में हम पूरी तरह से जानते भी नहीं है. वो लोग भाग्यशाली थे जिनके बारे में देश जनता है पर ऐसे बहुत से लोग थे जिनके बारे में हमें अभी भी कुछ पता नहीं है. उन सभी महान आत्माओं को का बलिदान ही है जिसके कारन हम आज खुली हवा में सांस ले रहे है. आईये उन सभी महान आत्माओं को याद करते है, और जिनके बारे में हमें पता है और जिनके बारे में हमें नहीं पता है उनके जीवन की आमूल्य घटनावो के बारे में पढ़ते है. उन सभी माहन आत्माओं का हिर्दय से अभिनन्दन.
जय हिंद जय भारत

Thursday, August 2, 2012

हत्या का रहस्य - एस. सी. बेदी (राजन - इकबाल सीरिज) - राजा बाल पॉकेट बुक्स

त्यौहारों के आगाज़ के साथ शुरू हुए बाल पॉकेट बुक्स के उत्सव को आगे बढ़ाते हुए आज प्रस्तुत है - बाल पॉकेट बुक्स विधा के सबसे चहेते लेखक एस.सी.बेदी और उनके अमर चरित्र - बाल सीक्रेट एजेंट ९९९ - राजन-इकबाल का  एक शानदार बाल उपन्यास - हत्या का रहस्य.

अब इस पूरे महीने यहाँ इस शानदार लेखक का ही जलवा बिखरेगा - आपके अपने बाल पॉकेट बुक्स ब्लॉग पर - अपनी तरह का एकमात्र ब्लॉग.


डाउन लोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Saturday, July 28, 2012

Tauji aur Murdon Ki Sena - Diamond Pocket Books (Rajiv)

दोस्तों, वादे के मुताबिक़ आपके सामने प्रस्तुत हैं इस सप्ताह की तीसरी बाल पॉकेट बुक्स - डायमंड पॉकेट बुक्स की राजीव  द्वारा लिखित - हमारे आपके प्रिय चरित्र ताउजी, रुमझुम और जादुई डंडे के कारनामे से भरी - ताउजी और मुर्दों की सेना 

यहाँ से डाउन लोड  कीजिये 


Tuesday, July 24, 2012

मार लिया मैदान (मनोज बाल पॉकेट बुक्स)

वादे के अनुसार अगली पेशकश के रूप में आज प्रस्तुत है - मनोज प्रकाशन  के लेखक समूहों द्वारा लिखित मनोज बाल पॉकेट बुक्स - मार लिया मैदान.
डाउन लोड करें और अपनी राय से अवगत करायें.

अगली प्रस्तुति होगी - डायमंड बाल पॉकेट बुक्स की - राजीव द्वारा लिखित - ताऊजी और मुर्दों की सेना  

Download link -  
http://www.mediafire.com/?ildg4n5vxd0nlbv

Sunday, July 22, 2012

चुड़ैलों की गली (मनोज बाल पॉकेट बुक्स)

दोस्तों, एक अरसा हो गया है यहाँ कुछ भी पोस्ट किये हुए. कल ही मनोज भाई का पोस्ट देखा और उनका कमेन्ट पढ़ा कि बाल पॉकेट बुक्स को सहेजने के इस प्रयास में वो अकेले रह गए हैं. उनका कहना सच है कि कॉमिक्स को सहेजने वाले काफी सारे दोस्त यहाँ मौजूद हैं पर बाल पॉकेट के लिए कोई आगे नहीं आता, 

तो अपने इस ब्लॉग को जिसे मैं स्वयं भूल बैठा था - अब से अपना योगदान देता रहूँगा. मनोज भाई - इस कार्य में मैं भी वापस आ गया हूँ - अब आप अकेले नहीं हैं.

प्रस्तुत हैं मेरे पसंदीदा प्रकाशन मनोज पॉकेट बुक्स से एक बाल पॉकेट - चुड़ैलों की गली (लेखक - मनोज)

http://www.mediafire.com/?bonsxw5kyxxwp2l

Monday, July 16, 2012

राजा पॉकेट बुक्स-कत्ल मत करो


Download 15MB
राजा पॉकेट बुक्स-कत्ल मत करो
 एस. सी. बेदी और उनके राजन- इकबाल जब भी ये दो एक साथ नज़र आये तो बस मज़ा ही आ गया, और ऐसा नहीं है की इस बाल पाकेट बुक्स में मज़ा नहीं आएगा इस में भी उतना ही आनंद प्राप्त होगा जितना आप को इनके बाकी नोवेल पढ़ कर आता है, ये मैंने तब से पढना शुरु किया था जब मै ११ साल का था और आज तक जब भी समय मिलता है पढ़ ही लेता हूँ, मेरा तो सपना इन्हें भी डिजिटल रूप में बदल कर हमेशा के लिए अमर करने का है. पर क्या करें इस काम में मुझे कोई भी सहयोग प्राप्त नहीं हुआ है और न ही होने की कोई उम्मीद है, जिससे बात करो तो वो कॉमिक्स तो स्कैन और अपलोड करने को तैयार हो जाता है पर बाल पाकेट बुक्स को कोई नहीं . और इधर मै व्यस्त भी ज्यादा रहने वाला हूँ मेरे इन्तहान भी सर पर ही है इसलिए मुझे लगता है इस महीने मै सिर्फ ये नोवेल ही अपलोड कर पाउँगा. हाँ अगले महीने मै कम से कम ३ बाल पाकेट बुक्स जरुर स्कैन और उपलोड करूँगा ही .

Wednesday, June 27, 2012

राजा पॉकेट बुक्स-खौफनाक कातिल


राजा पॉकेट बुक्स-खौफनाक कातिल
जैसा की आप सब को याद होगा, कुछ बातो को लेकर मै अपने आप से बहुत नाराज़ था और मेरे लिए बहुत मुश्किल था दुबारा कॉमिक्स/बाल पॉकेट बुक्स स्कैन करना पर जिस तरह का साथ मुझे अपने मित्रों का मिला उसे देखकर ये तो समझ में आ गया की जिसे कुछ बुरे लोग दुनियां में है वैसे ही बहुत अच्छे लोग भी इस दुनियां में है और वो मेरे साथ खड़े है, जो मेरे लिए संतोष की बात है.और जैसे मै कुछ लोगो के कारण स्कैन न करने की बात सोच सकता हूँ वैसे ही बहुत लोगो के लिए स्कैन दुबारा करने के लिए भी तैयार हो सकता हूँ . और इन सब से ऊपर वो बात है की आप अगर सही रस्ते पर है तो इश्वर आप का साथ जरुर देता है और वही हुआ और मुझे १२०० कॉमिक्स प्रिंट रेट पर मिल गयी और ऐसी कॉमिक्स जो की मै बहुत दिन से ढूंड रहा था और कुछ बाल पॉकेट बुक्स वो भी प्रिंट रेट पर. तब से मुझे यकीन हो गया है की मै अपना काम करता रहू तो इश्वर मेरा साथ जरुर देगा. अब बात करते है यस. सी . बेदी की राजन इकबाल सिरीज़ की जो की हमेश की तरह ही बेहतर कहानी से लैस है और खौफनाक कातिल भी वैसी ही है. मन तो बहुत हो रहा है इस कहानी के बारे में बात करने की पर ज्यादा बात कहानी का मज़ा ख़राब कर देगी इसलिए इसे डाउनलोड कर खुद ही पढ़े .

Sunday, June 10, 2012

शिप्रा बाल पाकेट बुक - हाईजैक

शिप्रा बाल पाकेट बुक
की ये एक मात्र बाल पाकेट बुक है मेरे पास. और एक ही बाल पाकेट की चार कॉपी मिली है कभी -कभी तो ऐसा लगता है जैसे कॉमिक्स और बाल पाकेट बुक्स खरीद कर कोई गुनाह कर रहा हूँ. अब तो इस काम से मन ऊबने लगा है , न दिल कॉमिक्स/ बाल पाकेट बुक्स स्कैन करने में लग रहा है और न पोस्ट करने में. हर कोई हमसे सिर्फ या तो पैसा चाहता है (जो कॉमिक्स या बाल पाकेट बुक बेचता है ) या फिर स्कैन कॉपी ( वो जो नेट पर मुफ्त में कॉमिक्स या बाल पोकेट बुक्स पढना चाहते है ) यहाँ तक वो लोग भी हमारा फ़ायदा उठाने में भी नहीं चुकते, जो की हमारी स्कैन की हुयी कॉमिक्स तो फ्री में पढ़ लेते है और अगर उन्हें गलती से कही से कॉमिक्स/बाल पाकेट बुक्स मिल जाती है तो वो उसके भी अपनी लागत से ४ गुना मागने में भी शर्म नहीं करते जबकि एक तरफ हम है की अपना पैसा लगा कर लोगो की मुफ्त में सेवा करते है. मै ये तो नहीं कहता की कोई हमें मुफ्त में कुछ दे दे , नहीं हमें किसी का आह्सान नहीं चाहिए पर कम से कम इस काम में जो की हम अपना घर फूक कर रहे है उसे इतना मुश्किल न बना दें की हम ये सब छोड़ कर औरों की तरह अपने बचपन को बचाने की कोशिश करना बंद कर दें . मन तो इतना दुखी है की अब कॉमिक्स/बाल पाकेट बुक्स न खरीदने का मन बना लिया है और रही स्कैन और अपलोड करने की बात फिलहाल इससे जारी रखने की कोशिश तो करूँगा पर क्या होगा कुछ कह नहीं सकता.

Tuesday, May 22, 2012

मोटू-पतलू और प्राइवेट ख़ुफ़िया


Download 18MB
Download 29MB
मोटू-पतलू और प्राइवेट ख़ुफ़िया
मोटू -पतलू
लोटपोट का सबसे प्रसिद्ध चरित्र , जिसको डाइमन्ड कॉमिक्स वाले ने खूब इस्तेमाल किया और उनकी कई कॉमिक्स निकली और यहाँ तक की इन चरित्र को इस्तेमाल करके बाल पाकेट बुक्स भी खूब छापी. और इन्ही बाल पाकेट बुक में से एक बाल पाकेट बुक आज मै अपलोड करने जा रहा हूँ . वैसे तो राज कॉमिक्स के चरित्रों के अलावा अगर कोई और चरित्र जिन्दा है तो वो , मोटू पतलू ही है, जो कि लोट पोट में आज भी छापे जाते है ( प्राण के चरित्र कि बात नहीं कर रहा हूँ क्योंकि वो सिर्फ रि- प्रिंट हो रहे है नया कुछ नहीं आ रहा है ) अब समय है कहानी के बारे में कुछ बताने कि तो इस बार मै आप सबसे माफ़ी चाहूँगा, मोटू- पतलू चाहे जितने प्रसिद्ध हो पर मुझे कभी भी पसंद नहीं आये. कारण मेरा दिल कभी भी अपने हीरो कि बेज्जती नहीं देख पता है और यही कारण है कि आज तक मुझे ऐसे हीरो कभी भी पसंद नहीं आये. मेरा हीरो ही पिट जाये ये मुझे बर्दास्त नहीं होता वैसे पाकेट बुक में ऐसा कम होता है , पर होता तो है इसलिए नहीं पढता हूँ और न ही इससे पढ़ा. इसलिए कुछ भी कहना अच्छा नहीं होगा हाँ किसी दिन मन कड़ा करके पढने कि कोशिश जरुर करूँगा. तब तक आप खुद पढ़ कर देखें .

Monday, May 14, 2012

अविष्कारक का अपहरण



Download 15MB
Download 23MB
अविष्कारक का अपहरण
फिर से मुझे एक और बाल पाकेट बुक मिली है राजन- इकबाल सिरीज़ की और वो भी एस. सी. बेदी जी की लिखी हवी नहीं है. ऐसा मेरे साथ सिर्फ दूसरी बार हुवा है और कहानी के लिहाज़ से नोवल बहुत ही अच्छी है, राजन -इकबाल का कुछ नया पढने को मिले वो भी बेदी जी से जुदा लेखनी में और वो भी अच्छी बन जाये तो मज़ा ही कुछ और है. वैसे तो ये लेखक और पब्लिसर तारीफ के काबिल है जिन्होंने अंधी दौड़ न दौड़ कर राजन-इकबाल सिरीज़ सही लेखक के नाम से छाप दिया है, नहीं तो उस समय ये ही देखने को मिलता था की लिखे कोई भी पर नोवल पर एस.सी.bedi और और राजन -इकबाल ही लिखा होता था.

Tuesday, April 24, 2012

चीखती रात


Download 15MB
Download 23MB
एस .सी . बेदी और राजन-इकबाल मतलब एक ही था की कहानी बेजोड़ होगी और पब्लिसर के लिए बिकने की गारंटी . ये ऐसे ही तो नहीं था. बेदी जी की कहानी में हमेशा देश प्रेम से भरपूर प्रसंग , दिमाग लगते जासूसी प्रसंग, इकबाल की हसाती बाते, पाठक कभी भूल नहीं पाते थे. इनका सिर्फ नाम बिकता था बच्चो के लिए इनसे बढ़िया कोई नहीं लिख पाया और न ही कभी कोई लिख पायेगा. कहानी हमेशा की तरह बेजोड़ है पढ़े और इनकी कहानी का आनंद ले

Saturday, April 14, 2012

गुडिया की शादी

Download in cbr format File Size: 11.00 MB
गुडिया की शादी
बाल पॉकेट बुक्स में राजन- इकबाल यानी एस. सी. बेदी. ये चरित्र इतना प्रसिद्ध था की हर प्रकाशक ने इस चरित्र की नक़ल करवाई और राजन-इकबाल (एस.सी.बेदी) के नाम से छाप कर खूब बेचा. जानकारों का कहना है की कुल राजन-इकबाल में से ३० % से ज्यादा बाल पॉकेट बुक बेदी जी की लिखी नहीं है वो नकली है. क्योंकि उस समय चरित्र कॉपी राईट नहीं था इसलिए जिस प्रकासक को बेदी जी छोड़ देते थे वे उनके नाम से नकली नोवल छाप देते थे. इससे बचने के लिए वो हर नोवल पर असली की पहचान बताते रहते थे . ये नोवल पहला नोवल है जो मेरी निगाह में आया है जिसमे राजन इकबाल को तो इस्तेमाल किया है पर एस.सी. बेदी जी का नाम नहीं इस्तेमाल किया. जो की बड़ी अनोखी बात लगती है कहानी के लिहाज़ से ये नोवल बिलकुल भी बुरी नहीं है और बेदी जी से ख़राब लिखी बिलकुल भी नहीं लगती है.

Saturday, March 31, 2012

Maa Ke Laal

Download in cbr format File Size: 17.00 MB

Tuesday, March 20, 2012

LINKS and OTHER ISSUES FIXED

Over the years, you have loved the Bal Pocket Books Blog - The first and still the only place celebrating the miniature form of novels - Our Bal Pocket Books.

Due to some laziness and other works - we were not being able to concentrate on the blog, so there were many problems including the links and other issues related to proper search and so on...

Now the Blog has been updated and problems have been fixed.

[1] No DEAD LINKS are there. Though only 4-5 BPBs needs to be re-uploaded.
[2] Proper POST TITLES and POST LABLES have been added to help you search easily.
[3] Many RAW SCANS have been RE-EDITED and RE-UPLOADED
[4] Trying our best to put all the uploads to the MEDIAFIRE, the best and user friendly file hosting site.

So, enjoy the new Bal Pocket Books Blog.

The BPB BLOG TEAM

Sunhari Naagin (S.C.Bedi) Raajan-Iqbal Series

Friday, March 16, 2012

हत्या का रहस्य (एस. सी. बेदी) - राजन इकबाल सीरिज (राजा पॉकेट )



http://www.mediafire.com/download/ozl0yzb3kub1np1/hatyaa+ka+rahsya.cbr

वीराना (s.c. बेदी) - राजन-इकबाल

राजा पॉकेट बुक्स - खतरों का घेरा (एस. सी.बेदी) - राजन-इकबाल सीरिज -


राजा पॉकेट बुक्स - खतरों का घेरा (एस. सी.बेदी) - राजन-इकबाल सीरिज -
Click Here to Download

Wednesday, January 4, 2012