Tuesday, April 24, 2012

चीखती रात


Download 15MB
Download 23MB
एस .सी . बेदी और राजन-इकबाल मतलब एक ही था की कहानी बेजोड़ होगी और पब्लिसर के लिए बिकने की गारंटी . ये ऐसे ही तो नहीं था. बेदी जी की कहानी में हमेशा देश प्रेम से भरपूर प्रसंग , दिमाग लगते जासूसी प्रसंग, इकबाल की हसाती बाते, पाठक कभी भूल नहीं पाते थे. इनका सिर्फ नाम बिकता था बच्चो के लिए इनसे बढ़िया कोई नहीं लिख पाया और न ही कभी कोई लिख पायेगा. कहानी हमेशा की तरह बेजोड़ है पढ़े और इनकी कहानी का आनंद ले