Monday, May 14, 2012

अविष्कारक का अपहरण



Download 15MB
Download 23MB
अविष्कारक का अपहरण
फिर से मुझे एक और बाल पाकेट बुक मिली है राजन- इकबाल सिरीज़ की और वो भी एस. सी. बेदी जी की लिखी हवी नहीं है. ऐसा मेरे साथ सिर्फ दूसरी बार हुवा है और कहानी के लिहाज़ से नोवल बहुत ही अच्छी है, राजन -इकबाल का कुछ नया पढने को मिले वो भी बेदी जी से जुदा लेखनी में और वो भी अच्छी बन जाये तो मज़ा ही कुछ और है. वैसे तो ये लेखक और पब्लिसर तारीफ के काबिल है जिन्होंने अंधी दौड़ न दौड़ कर राजन-इकबाल सिरीज़ सही लेखक के नाम से छाप दिया है, नहीं तो उस समय ये ही देखने को मिलता था की लिखे कोई भी पर नोवल पर एस.सी.bedi और और राजन -इकबाल ही लिखा होता था.